Aug 8, 2010

क्षत्रिय एकता मंच फरीदाबाद : सभा का आयोजन

क्षत्रिय एकता मंच,सारण गांव फरीदाबाद द्वारा प्रेस क्लब में एक विशाल क्षत्रिय सभा का आयोजन किया गया| सभा को स्थानीय क्षत्रिय नेताओं के अलावा हरियाणा सरकार की संसदीय सचिव सुश्री शारदा राठौड़,पलवल कांग्रेस अध्यक्ष डा.हरेन्द्रपाल सिंह ,अखिल भारतीय क्षत्रिय समन्वय मोर्चा के अध्यक्ष ठाकुर अनूप सिंह,फरीदाबाद के महापौर श्री अशोक अरोड़ा व प्रेम नारायण शास्त्री जी ने संबोधित किया |सभा में फरीदाबाद शहर के सैकड़ों क्षत्रियों ने भाग लिया |
अपने संबोधन ने सुश्री राठौड़ ने क्षत्रियों से संगठित व सुशिक्षित होने का आव्हान किया | उन्होंने महाराणा प्रताप के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनसे प्रेरणा लेने को कहा | हरियाणा की संसदीय सचिव सुश्री राठौड़ ने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि यदि हमें हमारा खोया गौरव पुन: प्राप्त करना है तो सबसे ज्यादा शिक्षा पर ध्यान दें अपने बच्चों को शिक्षित करें ताकि वे अपने जीवन के हर क्षेत्र में आगे बढ़ने में कामयाब हों ,सुश्री राठौड़ ने सारण गांव में महाराणा प्रताप पुस्तकालय बनाने के लिए पूरा सहयोग करने व पुस्तकालय के लिए पुस्तकें उपलब्ध कराने हेतु जितना जरुरत हो उतना धन देने की भी घोषणा की |
ज्ञात हो कि आज सुश्री राठौड़ द्वारा फरीदाबाद के सारण गांव चौक पर महाराणा प्रताप पुस्तकालय का उदघाटन करना तो जो कतिपय कारणों से टालना पड़ा |

सभा को संबोधित करते हुए शहर के प्रथम नागरिक व महापौर श्री अशोक अरोड़ा ने भी सामाजिक एकता पर बल दिया | उन्होंने अपने संबोधन में कहा -क्षत्रिय ही छतीस बिरादरी को साथ लेकर चलने में सक्षम थे और अब भी है इसलिए क्षत्रियों ने लम्बे समय तक देश पर शासन किया अपने भाषण में उन्होंने महाराणा प्रताप पुस्तकालय बनाने के लिए हर संभव सहायता का वादा किया तथा २० अगस्त को फरीदाबाद में स्व.राजीव गाँधी की मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में शहर के सभी क्षत्रियों को आने हेतु आमंत्रित किया |

सभा को संबोधित करते हुए युवा क्षत्रिय नेता व पलवल कांग्रेस अध्यक्ष डा.हरेंद्रपाल सिंह सामाजिक एकता पर बल दिया |

अपने ओजस्वी संबोधन में श्री प्रेम नारायण शास्त्री ने कहा - भारत के इतिहास से यदि राजपूत इतिहास निकाल दिया जाये तो कुछ नहीं बचेगा उन्होंने अपने संबोधन में इतिहास पढने पर बल देते हुए कहा कि वाही समाज जिन्दा रह सकता है जिसे अपने इतिहास के बारे में पता हो ,इतिहास हमें प्रेरणा देता है ,इतिहास हमें पूर्व में की गयी गलतियों का विश्लेषण करने का मौका देता है ,इतिहास ही हमें नैतिकता सिखाता है इसलिए सभी को इतिहास जरुर पढना चाहिए









ग्लोबल होता राजस्थानी साफा | ज्ञान दर्पण
मेरी शेखावाटी: आकाल को आमंत्रित करते है ये टोटके
ताऊ डाट इन: ताऊ पहेली - 86

Share this:

Related Posts
Disqus Comments